Follow Us :

चीनी आधिपत्य और वर्चस्व को कम करने की मजबूरी की कीमत हमारी अर्थव्यवस्था

July 11, 2022 900 Views 0 comment Print

वैसे तो पड़ोसी की मदद करना हमारी सभ्यता के अनुरूप है, लेकिन मदद तभी कारगर साबित होती है जब हम खुद आत्मनिर्भर हो गए हो. लेकिन आज जो देश में हालात हैं, उसे देखते हुए पड़ोसी देश को मदद कर पाना मुश्किल बन पड़ा है. अब इसे मजबूरी ही कहिये कि चीन अपना आधिपत्य हमारे […]

कमर तोड़ मंहगाई की तरफ ले जाती जीएसटी की नई दरें

July 9, 2022 5394 Views 0 comment Print

18/07/2022 से जिन उत्पादों पर जीएसटी दरें बढ़ाई गई है, उससे सरकार की मंशा साफ तौर पर दिख रही है कि:1. ज्यादातर जीएसटी की दरें 18% पर सरकार लाना चाहती है2. किसी भी उत्पाद और सेवा को करमुक्त नहीं रखना चाहती3. केन्द्र सरकार समझ गई है कि राज्यों को जीएसटी क्षतिपूर्ति का हर्जाना जारी रखना होगा नहीं तो राज्य बगावत भी कर सकते हैं

अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत: बैंक तब जागे, जब डीएचएफएल कर गई घोटाला

June 24, 2022 1701 Views 0 comment Print

देश के सबसे बड़े बैंकिंग घोटाले दीवान हाउसिंग – सन् 2010 से 2018 तक इसके प्रमोटरों ने खुलकर फर्जीवाड़ा किया और हमारी सरकार इन्हें हाउसिंग सेक्टर में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए इनाम देते रहे, बैंक इन्हें लोन बांटता रहा और तब इन्हें खुले आम किए जा रहा फर्जीवाड़ा भी अच्छा लगता रहा और जब 2019 में कंपनी ने डिफाल्ट किया तो सब खटकने लगा

रीयल एस्टेट सेक्टर मांगे मोर

June 6, 2022 942 Views 0 comment Print

सरकार द्वारा समय समय पर किए गए उपायों के बावजूद सिसक सिसक कर बढ़ रहा प्रापर्टी मार्केट फिर कराहने लगा है. ऐसा नहीं की सरकारें इस क्षेत्र को उठाने और बढ़ाने का भरसक प्रयास कर रही है, लेकिन ये पर्याप्त नहीं दिख रहे हैं. हम सभी भलिभांति परिचित है कि रीयल एस्टेट सेक्टर न केवल […]

मप्र हाईकोर्ट ने गलत स्टाक स्टेटमेंट को अघोषित आय माना

May 18, 2022 5562 Views 0 comment Print

सामान्यत ये चलन व्यापक स्तर पर देखा जाता है कि व्यापारी या उद्योगपति अपनी बैंक लिमिट जारी रखने के लिए या बढ़वाने के लिए या बैंकों से अधिक वित्तीय सुविधा प्राप्त करने के लिए बढ़ा चढ़ाकर स्टाक दिखाते हैं जितना रिकॉर्ड में नहीं होता है और ऐसा करने में प्रायः यह भी देखा जाता है कि बैंकर्स, सीए और कर सलाहकार भी सहायता करते हैं.

रांची केस में सीए की हिरासत सिखलाती कि हर पैशेवर के लिए संस्थान द्वारा जारी आचार संहिता का पालन बेहद जरुरी

May 9, 2022 3255 Views 0 comment Print

रांची केस में सीए सुमन कुमार की गिरफ्तारी दर्शाता है कि न माया मिली न राम, बदनामी और जान के लाले पड़े सो अलग. हम सभी जानते हैं कि राजनेता, नौकरशाह और व्यापारी अपने धन और शक्ति बल से केस से बरी हो जाएगा लेकिन नुकसान होगा तो सिर्फ पैशेवर को. सिर्फ उसका व्यवसाय और केरियर […]

अब म्यूचुअल फंड पर भी लगा क्रिप्टोकरेंसी का तड़का

April 7, 2022 1851 Views 0 comment Print

एक तरफ सरकार डिजिटल असेट जैसे क्रिप्टोकरेंसी, आदि जुए, सट्टे के प्रारुप को कानूनी मान्यता नहीं देने की बात कह रही है तो दूसरी तरफ इससे होने वाली आय पर टैक्स लेकर कानूनी मान्यता देने तैयार है और अब म्यूचुअल फंड को परमीशन दी जा रही है कि वो इन जुए सट्टे प्रारुप आभाषी मुद्रा […]

कर्ज पर चलनेवाली विकासशील देशों की सरकारें श्रीलंका की दुर्दशा से लें सबक

April 3, 2022 1947 Views 0 comment Print

विकासशील देश हमेशा से पश्चिम देशों और चीन के कर्ज के बोझ तले दबे होते हैं और इसका फायदा अमरीका, चीन और युरोपीय देश इन विकासशील देशों की अर्थव्यवस्था पर कब्जा कर, उनकी राजनीतिक और सामाजिक नीति पर प्रभाव डाल अपनी उंगलियों पर नचाते है और ये विकासशील देश न कर्ज के जाल से उबर […]

टैक्स लास हारवेस्टिंग- बेवकूफी या समझदारी

April 2, 2022 1830 Views 0 comment Print

शेयर खरीद फरोख्त पर आजकल टैक्स बचाने का तरीका जो कि टैक्स लास हारवेस्टिंग के नाम से प्रचलित है, विभिन्न बड़े बड़े ब्रोकिंग फर्मों द्वारा सुझाया जा रहा है और निवेशक बिना सोचे समझे इस तरह के बेतरतीब तरीकों में उलझ रहा है. टैक्स लास हारवेस्टिंग का तरीका बेवकूफी है या समझदारी, पहले इसे समझते […]

कैसे हो मंहगाई और बेरोजगारी पर नियंत्रण? रीयल एस्टेट सेक्टर में है काफी संभावनाएं

March 27, 2022 618 Views 0 comment Print

वैश्विक उथल पुथल, बढ़ती जनसंख्या, मंहगाई, तेल के दाम, बेरोजगारी और सरकारी खर्च के बीच केन्द्र सरकार और राज्य सरकारों की पेट्रोल डीजल और गैस पर संग्रहित करों पर निर्भरता ने आम आदमी का जनजीवन हलाकान कर दिया है. राजस्व की वसूली सरकार द्वारा शास्ति, पेनल्टी, लेट फीस, ब्याज, आदि लगाकर जोर जबरदस्ती से करी […]

Search Post by Date
June 2024
M T W T F S S
 12
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930