Prime Minister’s Office

Prime Minister’s Special Address to the Nation

PM appeals to citizens to not let their guard down in the country’s fight against Corona

Says the lockdown might have gone but the virus has not

Cautions this is not the time for callousness and complacency

Lauds the efforts of the doctors, nurses and other Corona Warriors for their selfless service to the nation

Work on vaccine is in progress and Govt is readying a strategy to deliver the vaccine to every single citizen

Recovery rate in the country has improved and the fatality rate is low : PM

Posted On: 20 OCT 2020

In a televised address to the nation, the Prime Minister Shri Narendra Modi made a fervent appeal to all the citizens to not let their guard down and become complacent, in the country’s ongoing fight against the Covid Pandemic.

Shri Narendra Modi said despite the lockdown having been lifted it does not mean that the Corona Virus is wiped out.

He appreciated the improvement in the situation all over the country and that economic activity is returning to normal and that people started moving out of their houses to fulfill the responsibilities.

Shri Modi observed that markets have also started returning to normalcy with the advent of the festivities.

He said India is in a better situation due to the efforts of every Indian in the last 7-8 months and one should not let it deteriorate.

The Prime Minister noted that the recovery rate in the country has improved and the fatality rate is low. Shri Modi stated that for every 10 Lakh Citizens about 5500 were infected with corona, while in countries like the US and Brazil the figure is nearly 25000.

He said that the death rate in India is 83 for every 10 Lakh Citizens , whereas in developed countries like the US, Brazil, Spain, Britain and many other countries  it is about 600.

The Prime Minister appreciated that in comparison to many developed nations, India is getting successful in protecting many lives of its citizens in the country.

The Prime Minister mentioned the improvement of the Covid Infrastructure in the country. He said more than 90 Lakh beds are available for corona patients along with 12000 Quarantine centres across the country.

He said over 2000  Corona Testing 2000 labs are functional all over the country, while the number of tests will soon cross 10 Crore.

He said India is succeeding in saving the lives of more and more of its citizens in comparison to the resource-rich countries and that the increasing number of tests has been a great strength in the country’s fight against the Covid pandemic.

The Prime Minister lauded the efforts of the doctors, nurses and health workers who are selflessly serving such a large population, following the mantra of “Seva Parmo Dharma.”

He warned people not to be callous, amidst all these efforts and not to assume that the corona virus is gone, or that there is no danger from the corona now.

Cautioning the people who have stopped taking precautions of late, he said “If you are negligent and going out without a mask, you are exposing yourself, your family, your children, the elderly to the same amount of risk.”

The Prime Minister referred to the ongoing situation in the US and Europe where the number of cases of Corona initially decreased but then suddenly started increasing.

He urged the people not to be negligent until a vaccine against the pandemic is found and let the fight against the Covid-19 weaken.

The Prime Minister said efforts are on a war footing to save humanity and many countries including the country’s scientists are working on the production of a vaccine.

He said the work is going on various vaccines against corona and that some of these are in an advanced stage.

The Prime Minister said the Government is also preparing a detailed road map to reach the vaccine to every single citizen as soon as it is readily available.

He again urged the people to not lax until the vaccine is done.

The Prime Minister said we are going through a difficult time and a little carelessness can lead to a great crisis and tarnish our happiness.

He urged citizens to be vigilant while fulfilling their responsibilities.

He appealed to the citizens to maintain the 6 feet distance (Do Gaj ki Doori), to wash their hands with soap periodically and to wear face masks.

****

Prime Minister’s Office

Text of PM’s address to the nation

Posted On: 20 OCT 2020

मेरे प्यारे देशवासियों !

नमस्कार !

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में जनता कर्फ्यू से लेकर आज तक हम सभी भारतवासियों ने बहुत लंबा सफर तय किया है। समय के साथ आर्थिक गतिविधियों में भी धीरे-धीरे तेजी नजर आ रही है। हम में से अधिकांश लोग, अपनी जिम्मेदारियों को निभाने के लिए, फिर से जीवन को गति देने के लिए, रोज घरों से बाहर निकल रहे हैं। त्योहारों के इस मौसम में बाजारों में भी रौनक धीरे-धीरे लौट रही है। लेकिन हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो, वायरस नहीं गया है। बीते 7-8 महीनों में, प्रत्येक भारतीय के प्रयास से, भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं, हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है, और अधिक सुधार करना है।

आज देश में रिकवरी रेट अच्छी है, Fatality Rate कम है। भारत में जहां प्रति दस लाख जनसंख्या पर करीब 5500 लोगों को कोरोना हुआ है, वहीं अमेरिका और ब्राज़ील जैसे देशों में ये आंकड़ा 25 हजार के करीब है। भारत में प्रति दस लाख लोगों में मृत्युदर 83 है, जबकि अमेरिका, ब्राज़ील, स्पेन, ब्रिटेन जैसे अनेक देशों में ये आंकड़ा 600 के पार है। दुनिया के साधन-संपन्न देशों की तुलना में भारत अपने ज्यादा से ज्यादा नागरिकों का जीवन बचाने में सफल हो रहा है। आज हमारे देश में कोरोना मरीजों के लिए 90 लाख से ज्यादा बेड्स की सुविधा उपलब्‍ध है। 12,000 Quarantine Centres हैं। कोरोना टेस्टिंग की करीब 2000 लैब्स काम कर रही हैं। देश में टेस्ट की संख्या जल्द ही 10 करोड़ के आंकड़े को पार कर जाएगी। कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में टेस्ट की बढ़ती संख्या हमारी एक बड़ी ताकत रही है।

सेवा परमो धर्म: के मंत्र पर चलते हुए हमारे doctors, हमारे nurses हमारे health workers हमारे सुरक्षाकर्मी और भी सेवाभाव से काम करनेवाले लोग इतनी बड़ी आबादी की निस्वार्थ सेवा कर रहे हैं। इन सभी प्रयासों के बीच, ये समय लापरवाह होने का नहीं है। ये समय ये मान लेने का नहीं है कि कोरोना चला गया, या फिर अब कोरोना से कोई खतरा नहीं है। हाल के दिनों में हम सबने बहुत सी तस्वीरें, वीडियो देखे हैं जिनमें साफ दिखता है कि कई लोगों ने अब सावधानी बरतना या तो बंद कर दिया है, या बहुत ढिलाई ले आए हैं। ये बिल्‍कुल ठीक नहीं है। अगर आप लापरवाही बरत रहे हैं, बिना मास्क के बाहर निकल रहे हैं, तो आप अपने आप को, अपने परिवार को, अपने परिवार के बच्चों को, बुजुर्गों को उतने ही बड़े संकट में डाल रहे हैं। आप ध्यान रखिए, आज अमेरिका हो, या फिर यूरोप के दूसरे देश, इन देशों में कोरोना के मामले कम हो रहे थे, लेकिन अचानक से फिर से बढ़ने लगे और चिन्‍ताजनक वृद्धि हो रही है।

साथियों, संत कबीरदास जी ने कहा है-पकी खेती देखिके, गरब किया किसान। अजहूं झोला बहुत है, घर आवै तब जान। अर्थात, कई बार हम पकी हुई फसल देखकर ही अति आत्मविश्वास से भर जाते हैं कि अब तो काम हो गया। लेकिन जब तक फसल घर न आ जाए तब तक काम पूरा नहीं मानना चाहिए। यही कबीरदास जी कहकर गए हैं। यानि जब तक सफलता पूरी न मिल जाए, लापरवाही नहीं करनी चाहिए।

साथियों, जब तक इस महामारी की वैक्सीन नहीं आ जाती, हमें कोरोना से अपनी लड़ाई को रत्‍तीभर भी कमजोर नहीं पड़ने देना है। बरसों बाद हम ऐसा होता देख रहे हैं कि मानवता को बचाने के लिए युद्धस्तर पर पूरी दुनिया में काम हो रहा है। अनेक देश इसके लिए काम कर रहे हैं। हमारे देश के वैज्ञानिक भी vaccine के लिए जी-जान से जुटे हैं। भारत में अभी कोरोना की कई वैक्सीन्स पर काम चल रहा है। इनमें से कुछ एडवान्स स्टेज पर हैं। आशास्‍वत स्‍थिति दिखती है।

साथियों, कोरोना की vaccine जब भी आएगी, वो जल्द से जल्द प्रत्येक भारतीय तक कैसे पहुंचे इसके लिए भी सरकार की तैयारी जारी है। एक-एक नागरिक तक vaccine पहुंचे, इसके लिए तेजी से काम हो रहा है। साथियों,  रामचरितमानस में बहुत ही शिक्षाप्रद बाते हैं, सीखने जैसी बाते हैं। लेकिन साथ-साथ अनेक प्रकार की चेतावनियाँ भी हैं जैसे रामचरितमानस में बहुत बड़ी बात कही गई है। रिपु रुज पावक पाप, प्रभु अहि गनिअ न छोट करि। अर्थात, आग, शत्रु, पाप यानि कि गलती और बीमारी, इन्हें कभी छोटा नहीं समझना चाहिए। जब तक इनका पूरा इलाज न हो जाए, इन्हें हल्के में नहीं लेना चाहिए। इसलिए याद रखिए, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं। त्योहारों का समय हमारे जीवन में खुशियों का समय है, उल्लास का समय है।

एक कठिन समय से निकलकर हम आगे बढ़ रहे हैं, थोड़ी सी लापरवाही हमारी गति को रोक सकती है, हमारी खुशियों को धूमिल कर सकती है। जीवन की ज़िम्मेदारियों को निभाना और सतर्कता ये दोनो साथ साथ चलेंगे तभी जीवन में ख़ुशियाँ बनी रहेंगी। दो गज की दूरी, समय-समय पर साबुन से हाथ धुलना और मास्क लगाना इसका ध्यान रखिए। और मैं आप सबसे करबद्ध प्रार्थना करना हूँ आपको मैं सुरक्षित देखना चाहता हूँ, आपके परिवार को सुखी देखना चाहता हूँ। ये त्‍योहार आपके जीवन में उत्‍साह और उमंग बढ़े ऐसा वातावरण चाहता हूँ और इसलिए मैं बार-बार हर देशवासी से आग्रह करता हूँ।

मैं आज अपने मीडिया के साथियों से भी, सोशल मीडिया में जो सक्रिय हैं उन लोगों से भी बड़े आग्रह से कहना चाहता हूँ कि आप जागरूकता लाने के लिए इन नियमों का पालन करने के लिए जितना जन जागरण अभियान करेंगे ये आपकी तरफ से देश की बहुत बड़ी सेवा होगी। आप जरूर हमें साथ दीजिए, देश के कोटि-कोटि जनों को साथ दीजिए।

मेरे प्‍यारे देशवासियों स्‍वस्‍थ्‍य रहिए, तेज गति से आगे बढ़िए और हम सब मिलकर के देश को आगे बढ़ाए। इन्‍हीं शुभकामनाओं के साथ नवरात्र, दशहरा, ईद, दिपावली, छठ पूजा, गुरूनानक जयंती समेत सभी त्‍योहारों की सभी देशवासियों को एक बार फिर से बहुत-बहुत बधाई देता हूँ।

धन्‍यवाद!

More Under Corporate Law

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search Posts by Date

November 2020
M T W T F S S
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
30