Embark on a comprehensive exploration of the E-Way Bill, a pivotal digital document shaping logistics and commerce in India. This guide navigates through crucial aspects, including the mandatory circumstances for E-Way Bill generation, such as consignment values exceeding INR 50,000. Uncover the details of who can generate E-Way Bills, the step-by-step process involved, and nuances around validity and extension. Dive into cancelation procedures, the role of transporters, scenarios leading to E-Way Bill blocks, and the subsequent impact on taxpayers. Learn the ropes of unblocking E-Way Bills and understand the penalties associated with non-generation. This guide equips businesses to confidently navigate E-Way Bill regulations, ensuring seamless and compliant goods movement.

E-way bill क्या है?

E-way bill एक ऐसा document है, जिसमे movement of goods की intimation होती है. Supplier goods की movement के पहले, सरकार को E-way bill के रूप में goods के movement की intimation देता है. E-way bill को transporter के द्वारा movement of goods के दौरान carry किया जाता है.

E-Way Bill बनाना कब mandatory होता है?

अगर आपके consignment की value Rs. 50,000 रुपये से अधिक है, तो आपको इस movement की जानकारी सरकार को E-way bill के through देनी है.

Goods का movement इन सभी reason से हो सकता है-

1. Movement का reason supply हो सकता है.

2. Movement का reason other than supply भी हो सकता है.

Example-1:- Mr. ABC की Madhya Pradesh में दो branch है, एक Indore में और दूसरी Bhopal में. Indore branch से Goods यदि Bhopal Branch में stock transfer किया जा रहा है, तो भले ही यह supply नही है. But, Goods का  movement हो रहा है, तो E-way bill बनाना पड़ेगा.

Example-2:- जैसे की आप आपके job worker को goods send कर रहे है. भले ही supply नही है, तो भी E-way bill बनाना जरुरी है.

3. Sales return के case में भी E-way bill बनाना जरुरी है. Goods अगर return किये जा रहे है,तो भी उसके साथ E-way bill होना जरूरी है।

4. अगर inward supplies unregistered person से है, तो इस case में भी E-way bill बनाना है.

Consignment value क्या होगी?

जैसा की आप जानते है कि Rs. 50,000/- से ज्यादा की Consignment value पर E-way Bill की liability आती है. Consignment value Section-15 के according determine की जाती है. Consignment value में taxable value of supply और GST शामिल है. Consignment value को determine करने के लिए tax free supply को consider नही जाता है. For Example:- आप एक ही invoice में taxable supply और exempted supply दोनों शामिल है, तो आपको consignment value के लिए सिर्फ taxable value और tax लेना है.

Particulars Amount
Taxable Value Rs.40000/-
Tax free Value Rs.6000/-
GST Rs.7200/-
Total Rs.53200/-
Consignment Value Rs.47200/-(40000+7200)

Example : मान लीजिये की आपकी invoice की value Rs.53200/- है, उसमे taxable value Rs.40000/- , tax free goods की value Rs.6000/- है और GST Rs.7200/- है.

इस case में आपको E-way bill बनाने की जरुरत नही है, क्योकि consignment value Rs.47,200 है, जो Rs. 50000/- से ज्यादा नहीं है.

कब E-way bill बनाना पड़ेगा, भले ही consignment value 50000/- से ज्यादा नहीं है.

कुछ cases में goods के movement पर आपको mandatory E-way bill बनाना है, भले ही consignment value Rs.50,000/- से ज्यादा की ना हो.

आएये इन cases को समझ लेते है-

1. अगर principal, job worker को inter state goods transfer कर रहा है तो कितनी भी value हो, E-way bill बनाना mandatory है.

2. अगर आप handicraft goods को inter state transfer कर रहे है और आपको section 24 के according gst registration लेने से exemption मिला हुआ है, तो भी इस case में E-way bill बनाना mandatory है.

E-way bill generate करना कब mandatory नही है.

अगर आप, आपके वहा से goods को transporter की place पर transfer कर रहे है, further transport करने के लिए, जिसका distance 50 kilometer से कम है और within state या union territory है, तो उस case में आपको part –B  में conveyance की detail भरने की जरुरत नही है.

उसी तरह अगर transporter अपनी business place से consignee की place पर goods को transfer कर रहा है, जिसका distance 50 km से कम है तो उस case में  E-way bill में conveyance की detail update करना जरुरी नही है.

E-way bill कौन generate कर सकता है?

E-way bill को

1. Supplier

2. Registered person

3. Unregistered person

4. Receiver, अगर goods unregistered person ने registered recipient को भेजे है

5. Transporter

ध्यान रहे की अगर आप composition dealer है, तो भी आपको E-way bill generate करना है.

E-way bill को कैसे generate करना है?

E-way bill को E-way bill की website https://ewaybillgst.gov.in से generate करना है

E- way bill के दो part होते है 

Part A और Part B

Part –A :- Registered person जो goods की movement करता है, उसको  goods की movement start करने से पहले E-way bill का part A file करना जरुरी है. Part A में invoice details के साथ साथ transporter ID या vehicle number भी mention करना जरुरी है. E-way bill का Part A file होने के बाद उसमे कोई भी modification नही किया जा सकता है. E-way bill का part A file करने पर आपको एक unique number generate होगा जो की E-way bill के part B को update करने के लिए 72 घंटों के लिए valid होगा.

Part –B :- Supplier या Receiver के द्वारा Part –A file किये जाने के बाद transporter के द्वारा Part–B file किया जाता है. जब तक E-way bill की time limit expire नही हुई हो, तब तक इसे कितनी बार भी update किया जा सकता है, इसकी कोई limit नहीं है. लेकिन ध्यान रहे की vehicle का actual movement बताये गये vehicle की detail से match होना चाहिए.

Unregistered Transporter जब e-way bill portal पर खुद को enrol करता है, तो उसे एक Transporter ID जारी होती है. इसी Transporter ID की मदद से वह कभी भी E-way bill जारी कर सकता है.

E-way bill के Part B को transporter update कर सकता है. इसका reason कुछ भी हो सकता है जैसे vehicle के ख़राब हो जाने पर दुसरे vehicle से goods को transfer करना या फिर consignment को end consignee तक पहुचाने के लिए 1 से ज्यादा transporter involve है.

E-way bill की validity क्या होती है?

जैसे ही E-way bill generate होता है, system approximate distance के according E-way bill का validity period बताता है. E-way bill की validity खत्म होने के बाद किया गया goods का movement illegal कहलाता है.

E-way bill की validity इस तरह रहती है:

Sl. No Distance Validity Period
1 Upto 200 Km One Day
2 For Every 200 km and part thereof thereafter One additional day
3 Upto 20 Km One Day (over Dimensional Cargo)
4 For Every 20 km and part thereof thereafter One additional day (over Dimensional Cargo)

E-way bill की validity को कैसे extend किया जा सकता है?

E-way bill की validity को E-way bill expire होने के 8 घंटे पहले या E-way bill expire होने के 8 घंटे बाद तक extend किया जा सकता है.

केवल transporter ही validity को extend कर सकता है.

E-way bill कब cancel कर सकते है?

कुछ mistakes होने के कारण आपको E-way bill cancel करना पड़ सकता है. जब तक आप same invoice से related old E-way bill को cancel नही करेंगे तब तक आप new E-way bill issue नही कर सकते है. Supplier या receiver या transporter जिसने भी E-way bill बनाया है, वो उसे 24 घंटे में cancel कर सकता है. लेकिन अगर concerned officer के द्वारा E-way bill को transit मे verify किया गया है तो फिर इसे cancel नहीं कर सकते है.

Transporter भी e-way bill जारी कर सकता है  

Goods जिस vehicle से जा रहा है, उसके transporter को भी e-way bill जारी करने का right होता है. लेकिन, इसकी आवश्यकता तभी पडती है, जब goods के supplier और receiver की ओर से e-Way Bill जारी न किया गया हो.

E-commerce operator या courier company भी माल भेजने वाले (consignor) की सहमति पर उसकी तरफ से e-way bill जारी कर सकते हैं.

Public transport से भी माल भेजा जा सकता है, लेकिन ऐसे मामले में e-way bill जारी करने की जिम्मेदारी पूरी तरह से माल भेजने वाले consignor या माल मंगाने वाले consignee की ही होगी.

Liability of unregistered person to generate E-way bill

Unregistered person को भी 50,000 से अधिक का goods भेजने पर e-Way Bill जारी करने की जरूरत होती है. हालांकि, जब कोई  unregistered person, registered person को supply करता है, तो फिर इस case में जो registered receiver है, उसे सारी compliances पूरी करनी होती है.

Reject E-way bill

E-way bill के portal पर एक option यह है कि अगर recipient को consignment receive नही हुआ है या supplier/recipient द्वारा गलत E-way bill generate हो गया है तो आप उस E-way bill को reject कर सकते है. Other party E-way bill generation के 72 hour के अन्दर E-way bill को reject कर सकता है. अगर 72 घंटे के अन्दर reject नही करता है तो deemed accepted माना जायेगा.

E–way bill कब block हो सकता है

अगर taxpayer two consecutive month/quarter (as the case may be) मतलब two tax period के Form GSTR-3B / FORM CMP-08 file नहीं करते है, तो E-way bill generation को block कर दिया जायेगा, मतलब taxpayer e-way bill generate नहीं कर पाएँगे.

Example : यदि किसी registered person ने January’23 & February’23 का return file नहीं किया है. मतलब, वह लगातार 2 महीने से return filing में default कर रहा है तो ऐसे case में E-way bill generation facility block हो जाएगी.

E-way bill block होने पर Taxpayer पर क्या Impact होगा:-

जिस person का E-way bill block हुआ है, वो न तो goods को कही supply कर सकता है न ही किसी और से अपने यहा पर receive कर सकता है. इससे आपका business पर बहुत impact आयेगा , क्योकि आप न तो sale कर पाएंगे ना ही purchase.

E-way bill generate करने के लिए, ऐसे blocked taxpayer के GSTIN का use नहीं कर सकते है.

अगर बिना e-way bill generate किये goods का movement कर दिया तो authority fine लगा सकती है या goods को seized/detained कर सकती है. अगर आपके goods को seized/detained कर लिया तो वे penalty pay करने के बाद ही  release हो पाएंगे.

Conclusion: Navigating the complexities of E-Way Bill compliance is crucial for businesses aiming for seamless logistics operations. Mastering its nuances ensures a smooth flow of goods, avoiding penalties and disruptions in the supply chain. Stay informed, stay compliant!

Author Bio

Qualification: CA in Practice
Company: STAK & ASSOCIATES
Location: INDORE, Madhya Pradesh, IN
Member Since: 10 Apr 2020 | Total Posts: 10
CA Vikram Tongya, a seasoned Chartered Accountant since 2009, is a distinguished professional in the field of finance and taxation. Currently serving as a partner at STAK & Associates, a reputable firm known for its expertise in financial services, Vikram brings a wealth of experience and insigh View Full Profile

My Published Posts

Join Taxguru’s Network for Latest updates on Income Tax, GST, Company Law, Corporate Laws and other related subjects.

Join us on Whatsapp

taxguru on whatsapp GROUP LINK

Join us on Telegram

taxguru on telegram GROUP LINK

Download our App

  

More Under Goods and Services Tax

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search Posts by Date

February 2024
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
26272829