पार्लियामेंट के समक्ष  प्रस्तुत  The Central Goods and Services Tax Bill, 2017 [दि सैन्ट्रल गुडस एंड सर्विस टैक्सं बिल, 2017 का हिन्दी अनुवाद], केंद्रीय माल और सेवा कर विधेयक, 2017  में “छूट प्राप्त प्रदाय” की परिभाषा निम्न प्रकार रही थी :–

“(47) “छूट प्राप्‍त प्रदाय” से ऐसे किसी माल या सेवाओं या दोनों का प्रदाय अभिप्रेत है, जिसकी, एकीकृत माल और सेवा कर अधिनियम की धारा 6 के अधीन कर की दर शून्‍य हो या जिसे धारा 11 के अधीन कर से पूरी छूट दी जा सकेगी और इसके अंतर्गत गैर-कराधेय प्रदाय भी है;”

उत्तर  प्रदेश राज्य में उत्तर प्रदेश माल और सेवाकर अधिनियम, 2017 में जीएसटी कौंसिल की संस्तुति पर अधिनियम की धारा 2 के क्लॉज (47) में “छूट प्राप्त पूर्ति” की परिभाषा निम्न प्रकार रखी गयी है :–

“(47) “छूट प्राप्‍त पूर्ति” से ऐसे किसी माल या सेवाओं या दोनों की पूर्ति अभिप्रेत है, जिसकी, एकीकृत माल और सेवा कर अधिनियम की धारा 6 के अधीन कर की दर शून्‍य हो या जिसे धारा 11 के अधीन कर से पूरी छूट दी जा सकेगी और इसके अंतर्गत गैर-कराधेय पूर्ति भी है;”

उत्तर प्रदेश विधान सभा द्वारा पारित विधेयक के अनुसार हिंदी भाषा में राज-पत्र में प्रकाशित अधिनियम में “छूट प्राप्त पूर्ति” की परिभाषा उपरोक्त प्रकार दी गयी है. इसके साथ अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित अधिनियम “The Uttar Pradesh Goods and Services Tax Act, 2017” में अधिनियम की धारा 2 के क्लॉज (47) में “exempt supply” की परिभाषा निम्न प्रकार दी गयी है :–

“(47) “exempt supply” means supply of any goods or services or both which attracts nil rate of tax or which may be wholly exempt from tax under section 11, or under section 6 of the Integrated Goods and Services Tax Act, and includes non-taxable supply;”

In the Central Goods and Services Tax Bill, 2017, introduced in, and as passed by the Parliament, clause 2(47) of the Bill had run as follows:–

“(47) “exempt supply” means supply of any goods or services or both which attracts nil rate of tax or which may be wholly exempt from tax under section 11, or under section 6 of the Integrated Goods and Services Tax Act,2017 and includes non-taxable supply;”

Hindi version of “exempt supply” in the Act passed by the NCT of Delhi Legislature runs as follows:–

“(47) “छूट प्राप्‍त प्रदाय” से ऐसे किसी माल या सेवाओं या दोनों की पूर्ति अभिप्रेत है, जिसकी, एकीकृत माल और सेवा कर अधिनियम की धारा 6 के अधीन कर की दर शून्‍य हो या जिसे धारा 11 के अधीन कर से पूरी छूट दी जा सकेगी और इसके अंतर्गत गैर-कराधेय पूर्ति भी है;”

Hindi version of “exempt supply” in the Act passed by the Delhi Legislature runs as follows:–

“(47) “छूट प्राप्त प्रदाय” से ऐसे किसी  माल या सेवाओं या दोनों का प्रदाय अभिप्रेत है,  जिसकी, धारा 11 या एकीकृत  माल और सेवा कर अधिनियम की धारा 6 के अधीन, कर की दर शून्य हो या कर से पूरी छूट दी गई है;”

Hindi version of “exempt supply” in the Act passed by the Madhya Pradesh Legislature runs as follows:–

“(48) “छूट प्राप्‍त प्रदाय” से ऐसे किसी माल या सेवाओं या दोनों का प्रदाय अभिप्रेत है, जिसकी, एकीकृत माल और सेवा कर अधिनियम की धारा 6 के अधीन कर की दर शून्‍य हो या जिसे धारा 11 के अधीन कर से पूरी छूट दी जा सकेगी और इसके अंतर्गत गैर-कराधेय प्रदाय भी है;”

I am not aware of amendment(s), if any, has been made in Hindi version of the Central Goods and Services Tax Act, 2017, or the Uttar Pradesh Goods and Services Tax Act, 2017 or any other States which have adopted Hindi language for legislation. Differences in English & Hindi versions of the Acts are apparent. Bihar GST Act, even does not include “non-taxable supply” in the definition of expression “exempt supply”.

Author Bio

Qualification: Post Graduate
Company: No Company to show
Location: NOIDA, Uttar Pradesh, IN
Member Since: 11 Jul 2019 | Total Posts: 34
I am retired Government Servant. Prior to my retirement I had been working as Member Tribunal, Uttar Pradesh Commercial Taxes. Presently, residing in Noida, U.P. & enjoying fully my retired life. View Full Profile

My Published Posts

More Under Goods and Services Tax

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Search Posts by Date

January 2021
M T W T F S S
 123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728293031